पत्रकारिता एवं जनसंचार

भारतीय एवं वैश्विक स्तर पर पत्रकारिता एवं जनसंचार के क्षेत्र में तेजी से बदलाव हो रहा है। आज के सूचना युग में जनमाध्यमों की नई सैद्धांतिकी भी विकसित हो रही है। इसीलिए इसे वर्तमान परिप्रेक्ष्य के अनुरूप समझने की आवश्यकता है। वर्तमान समय में रोजगार मूलक शिक्षा के क्षेत्र में पत्रकारिता एवं जनसंचार का भी काफी महत्वपूर्ण स्थान है। विश्वविद्यालय द्वारा जनसंचार के क्षेत्र में कुशल संचारक के निर्माण तथा जनसंचार एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में उच्च शिक्षण व गवेषणा के लिए पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की स्थापना की है।

विभाग के पाठ्यक्रमों में सभी प्रश्नपत्रों को सैधांतिक व रोजगारपरक दृष्टि से संतुलित बनाया गया है। इस विभाग के द्वारा विस्तार देश, समाज, शिक्षा क्षेत्र व मीडिया क्षेत्र को योग्य अध्येता व संचारक तैयार करने हेतु यथेष्ट प्रयास किये जा रहे हैं।

इस संकाय के अंतर्गत समाचार सम्पादन, संकलन, प्रसारण तकनीकी और निष्पादन कला के साथ-साथ फिल्म निर्माण, डाक्यूमेंट्री निर्माण हेतु कथा, पटकथा लेखन, सिनेमा समीक्षा आदि शिक्षा के पाठ्यक्रम का संचालन भी किया जा रहा है। इस विभाग के अंतर्गत बी.ए. (जर्नलिज्म), स्नातक (प्रतिष्ठा), स्नातकोत्तर, पत्रोपाधि पाठ्क्रम संचालित हैं।

शिक्षक गण :

विभागीय शिक्षक गण की सूची :
नाम पदनाम विशेषज्ञता संपर्क न. ईमेल
कोई रेकॉर्ड नहीं है।

पाठ्यक्रम विवरण:

पाठ्यक्रम का नाम : एम.ए. जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन
पाठ्यक्रम का प्रकार स्नातकोत्तर
अवधि 2 वर्ष
न्यूनतम योग्यता स्नातक
अनिवार्य विषय --
उपलब्ध सीट --
प्रवेश का माध्यम प्रावीण सूची
अध्ययन का माध्यम नियमित



पाठ्यक्रम का नाम : बी.ए. जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन
पाठ्यक्रम का प्रकार स्नातक
अवधि 3 वर्ष
न्यूनतम योग्यता 10+2
अनिवार्य विषय --
उपलब्ध सीट --
प्रवेश का माध्यम प्रावीण सूची
अध्ययन का माध्यम नियमित



पाठ्यक्रम का नाम : पत्रकारिता एवं जनसंचार
पाठ्यक्रम का प्रकार स्नातकोत्तर-पत्रोपाधि
अवधि 1 वर्ष
न्यूनतम योग्यता स्नातक
अनिवार्य विषय --
उपलब्ध सीट --
प्रवेश का माध्यम प्रावीण सूची
अध्ययन का माध्यम नियमित




पाठ्यक्रम :

पाठ्य विवरण (सिलेबस):
पाठ्यक्रम सिलेबस
स्‍नातकोत्‍तर पत्रोपाधि Download
एम.ए Download
बी.ए Download



संकाय एवं विभाग

नवीन सूचनाएँ

अधिक पढ़ें